उम्र 33 साल, फॉलोवर 1 करोड़, मालकिन अरबों की, ये हैं सुदीक्षा

Sudeeksha
Sudeeksha

नई दिल्ली। संत निरंकारी मिशन की आध्यात्मिक प्रमुख रहीं माता सविंदर हरदेव के निधन के बाद अब मिशन के कमान छोटी बेटी सुदीक्षा के हाथ में होगी। अरबों रुपये की संपत्ति वाले संत निरंकारी मिशन की कमान संभालना सुदीक्षा के लिए बहुत बड़ी चुनौती है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वर्तमान में दुनियाभर में मिशन के 1 करोड़ से ज्यादा भक्त हैं। दुनियाभर के 27 देशों में निरंकारी मिशन है और इसका मुख्यालय दिल्ली में स्थित है। बताया जा रहा है कि विदेशों में मिशन के 100 से ज्यादा केंद्र हैं। भारत में भी करीब हर राज्यों में लाखों की संख्या में उनके अनुयायी हैं।

Sudeeksha
Sudeeksha

बता दें कि जुलाई में ही निरंकारी मिशन के पूर्व सतगुरु स्वर्गीय बाबा हरदेव सिंह की छोटी बेटी सुदीक्षा को गया सद्गुरु बनाया गया था। बुराड़ी के समागम मैदान में माता सविंदर हरदेव सिंह ने तिलक लगा कर इस बात की औपचारिक घोषणा की थी। निरंकारी मिशन के प्रेस इंचार्ज कृपा सागर के हवाले से आई खबर के अनुसार मिशन में दोनों बड़ी बहनों को कोई जगह नहीं मिली। बताया जाता है कि सुदीक्षा को साल 2016 में पिता हरदेव की मृत्यु के बाद ही गद्दी मिलने की पूरी उम्मीद थी, लेकिन किन्हीं कारणों से ऐसा संभव नहीं हो सका था।

कौन है सुदीक्षा

सुदीक्षा का जन्म 13 अप्रैल 1985 को दिल्ली में हुआ और 2006 में एमिटी यूनिवर्सिटी से मोनो चिकित्सा में ग्रेजुएट करने के बाद मिशन के लिए विदेश का काम देखने लगीं। सुदीक्षा की शादी दो जून 2015 को दिल्ली में पंचकूला निवासी अवनीत से हुई थी। 33 वर्षीय सुदीक्षा के पति अवनीश सेतिया की भी कनाडा में बाबा हरदेव सिंह के साथ सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो गई थी। बाबा हरदेव सिंह का कोई पुत्र नहीं है, उनकी तीन पुत्रियां है, जिनमें सुदीक्षा सबसे छोटी है।

मुठभेड़ : बरसात में भिगो-भिगो कर मारे 14 नक्सली

कश्मीर में माहौल तनावपूर्ण, अनुच्छेद 35-ए पर आज आएगा फैसला